Ad1

S373, ध्यान योग की महिमा- पापों से मुक्ति का प्रमाणिक उपाय

     प्रभु प्रेमियों ! सत्संग ध्यान के इस प्रवचन सीरीज में आपका स्वागत है। आइए आज जानते हैं-सद्गुरु महर्षि मेंहीं परमहंस जी महाराज के प्रवचन संग्रह 'सत्संग सुधा सागर' के प्रवचन नंबर S373, को। जो शांति संदेश 1974 ईस्वी के जून अंक में प्रकाशित है। इस प्रवचन में ध्यान योग की महिमा पर विशेष प्रकाश डाला गया है। इस प्रवचन को पढ़ने के पहले, गुरु महाराज का दर्शन करें फिर प्रवचन पढ़ेंगे।

अध्ययनरत गुरुदेव
अध्ययनरत गुरुदेव


ध्यान योग की महिमा श्लोक
ध्यान योग की महिमा श्लोक

प्रवचन चित्र

प्रवचन चित्र समाप्त
प्रवचन चित्र समाप्त

     प्रभु प्रेमियों ! सद्गुरु महर्षि मेंहीं परमहंस जी महाराज के इस प्रवचन का पाठ करके आप समझ गए होंगे कि ध्यान योग से दुनिया का सबसे कठिन काम अत्यंत आसानी से हो सकता है। ध्यान योग कैसे करना है सत्संग और ध्यान पर विशेष रूप से गुरु महाराज के 400 से भी ज्यादा प्रवचन हैं। उन परवचनों के संग्रह का इंटरनेट के माध्यम से प्रचार-प्रसार करने के लिए इस ब्लॉग में कुछ सहयोग करें । सहयोग करने के लिए    यहां दबाएं।

    उपर्युक्त प्रवचन का पाठ किया हुआ  वीडियो निचे दिया जा रहा है ।



S373, ध्यान योग की महिमा- पापों से मुक्ति का प्रमाणिक उपाय S373, ध्यान योग की महिमा- पापों से मुक्ति का प्रमाणिक उपाय Reviewed by सत्संग ध्यान on 3/10/2018 Rating: 5

कोई टिप्पणी नहीं:

प्रभु प्रेमियों! कृपया वही टिप्पणी करें जो सत्संग ध्यान कर रहे हो और उसमें कुछ जानकारी चाहते हो अन्यथा जवाब नहीं दिया जाएगा।

संतमत और बेदमत एक है, कैसे? अवश्य जाने

     प्रभु प्रेमियों ! सत्संग ध्यान के इस प्रवचन सीरीज में आपका स्वागत है। आइए आज जानते हैं-सद्गुरु महर्षि मेंही परमहंस जी महाराज ने यह सि...

Ad

Blogger द्वारा संचालित.