Ad1

ब्लॉग परिचय

               सत्संग ध्यान ब्लॉग का परिचय

      प्रभु प्रेमियों ! पुज्यपाद सद्गुरु महर्षि मेंहीं परमहंस जी महाराज के समस्त पुस्तकों में  महर्षि मेंहीं वचनामृत, सत्संग सुधा सागर, महर्षि मेंही अनुभव प्रकाश और सत्संग सुधा भाग 1, 2 सर्वाधिक लोकप्रिय है और इसी कारण से इन प्रवचनों को शांति संदेश में हर महीने छापा जाता है। ईन प्रवचनों के संग्रह का श्रेय पूज्यपाद संतसेवी जी महाराज को है। प्रायः इन्होंने ही गुरु महाराज के सारे प्रवचनों को उनके प्रवचन करते समय लिपि बद्ध करके रखतें रहे हैं और उसमें से एक-एक प्रवचन शांति संदेश में छापा जाता है ।

शांति संदेश
शांति संदेश

      इन प्रवचनों में मनुष्य जीवन के सार-सार बातों के साथ विस्तार से भी  बताया गया है । जैसे- सत्संग हमलोगों को क्यों करना चाहिए ? सत्संग करने से क्या फायदा है? ध्यान कैसे करें? ध्यान क्या है ? ध्यान से क्या-क्या फायदे हैं ? ध्यान करने का लक्ष्य क्या है ? जिव क्या है ?  प्रेम क्या है? संसार में कैसे रहना चाहिए?  ईश्वर का स्वरुप क्या है ? ईश्वर की भक्ति क्यों करें ? आदि बहुत सारे प्रश्नों को जो जीवन में अत्यंत अनमोल है और इन बातों की जानकारी हर जगह उपलब्ध नहीं है। और कहीं कोई कुछ बताते भी हैं, तो उनमें वह बात नहीं है । जो गुरु महाराज के बातों में है। क्योंकि गुरु महाराज ने अपने सत्संग ध्यान करके उस परम प्रभु परमात्मा को प्राप्त करके फिर उपदेश दिए हैं। जो अत्यंत ही अनुकूल है।

      कुछ दिन के बाद इन प्रवचनों का एक संग्रह निकाला गया और इस प्रकार से ऊपर वर्णित कई संग्रह प्रकाशित हो चुके हैं । उन्हीं संग्रहों में से मैंने 400 से ज्यादा प्रवचनों को अपनी आवाज में रिकॉर्ड करके इस ब्लॉग पर डालले का काम शुरु किया और कुछ का वीडियो बनाकर youtube पर डाल रहा हूं। जिससे सर्व साधारण को यह हर जगह उपलब्ध हो सके । इसी क्रम में मुझे पता चला ब्लॉग में इन प्रवचनों को लिखकर भी डाला जा सकता है । अतः अब इन्हीं प्रवचनों को 'सत्संग ध्यान' नामक ब्लॉग में भी डाल रहा हूं । 

     जिन सज्जनों को उन आवाज और वीडियो में से पूर्णतः संतुष्टि नहीं होती और वह कुछ उसमें और देखना समझना चाहते हैं । तो वह हमारे 'सत्संग ध्यान' नामक ब्लॉग से इन प्रवचनों को  अच्छी तरह से बार-बार पढ़ सुन सकेंगे  और गुरु महाराज के उपदेश से अपने जीवन का निर्माण कर सकेंगे । जय गुरु ।

**
......वेद-उपनिषद, गीता-रामायण, भागवत-गुरुग्रंथ इत्यादि सदग्रंथों और सभी पहुंचे हुए संतों की वाणीयों के द्वारा प्रमाणित सद्गुरु महर्षि मेंही के प्रवचनों द्वारा सत्संग, ध्यान, गुरु, ईश्वर आदि विषयों पर चर्चा का ब्लॉग....

**
https://www.paypal.com/paypalme/VarunDasIN/send?amount=1&currencyCode=USD&locale.x=en_GB&country.x=IN
....
ब्लॉग परिचय ब्लॉग परिचय Reviewed by सत्संग ध्यान on 3/09/2018 Rating: 5

कोई टिप्पणी नहीं:

प्रभु प्रेमियों! कृपया वही टिप्पणी करें जो सत्संग ध्यान कर रहे हो और उसमें कुछ जानकारी चाहते हो अन्यथा जवाब नहीं दिया जाएगा।

संतमत और बेदमत एक है, कैसे? अवश्य जाने

     प्रभु प्रेमियों ! सत्संग ध्यान के इस प्रवचन सीरीज में आपका स्वागत है। आइए आज जानते हैं-सद्गुरु महर्षि मेंही परमहंस जी महाराज ने यह सि...

Ad

Blogger द्वारा संचालित.